मंदसौरमध्यप्रदेश

समाचार मध्यप्रदेश मंदसौर 19 दिसंबर 2023 मंगलवार

 

==========================

कलेक्टर ने ग्राम सिंदपन में विकसित भारत संकल्प यात्रा का निरीक्षण किया

मंदसौर 18 दिसंबर 23/ कलेक्टर श्री दिलीप कुमार यादव एवं सीईओ जिला पंचायत श्री कुमार सत्यम ने विकसित भारत संकल्प यात्रा के अंतर्गत सिंदपन में आयोजित विकास यात्रा का औचक निरीक्षण किया।निरीक्षण के दौरान उन्होंने वहां पर उपस्थित सभी अधिकारियों को दिशा निर्देश प्रदान किए। दिशा निर्देशप्रदान करते हुए उन्होंने कहा कि सभी जिलाधिकारी अपने-अपने विभाग के स्टॉल विकास यात्रा के दौरानलगवाए तथा स्टॉल पर ही लोगों की समस्याओं को सुने तथा उनका त्वरित निराकरण करें। इस दौरान कितनेलोगों के द्वारा आवेदन दिए गए। कितनों का समाधान किया गया। सभी की एक सूची बनाएं। जिन विभागों केद्वारा स्टॉल नहीं लगाए जाएंगे, लोगों की समस्या का समाधान नहीं किया जाएगा। ऐसे अधिकारियों की वेतनकाटने की कार्यवाही की जाएगी। ड्रोन के माध्यम से किस तरह से दवाई की छिड़काव किया जाएगा, इसकाभी कलेक्टर ने निरीक्षण किया।

====================

कलेक्टर ने किया पशुपतिनाथ लोक निर्माण कार्य का निरीक्षण

मंदसौर 18 दिसंबर 2023/ कलेक्टर श्री दिलीप कुमार यादव ने पशुपतिनाथ लोक निर्माण कार्य कानिरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने आवश्यक दिशा निर्देश की दिए। इस दौरान सीईओ जिला पंचायतश्री कुमार सत्यम एवं अपर कलेक्टर श्री विशाल सिंह चौहान उपस्थित थे ।कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान कहा कि नक्शे अनुरूप निर्माण कार्य करें। निर्माण के लिए प्रयोग की जाने वाली तकनीकी के बारे में विस्तार से जानकारी ली तथा निर्माण कार्य को लेकर क्या-क्या तकनीकी यूजकी जानी चाहिए, किस तरह से निर्मित होगा आदि के बारे में पूरी जानकारी ली।

================
वृत्त स्तरीय गिद्ध गणना प्रशिक्षण गाँधीसागर मे हुआ सम्पन्न

मंदसौर 18 दिसम्‍बर 2023/ प्रदेश स्तरीय गिद्ध गणना का कार्य वन विभाग द्वारा स्वयं सेवी संस्थाओएवं विभाग के कर्मचारियों की मदद से किया जाना है । इस हेतु प्रदेश स्तरीय कार्यशाला का आयोजन मे कियागया था । वृत्त स्तरीय प्रशिक्षण/कार्यशाला का आयोजन गाँधीसागर अभयारण्य मे किया गया। जिसमे उज्जैनवृत्त अंतर्गत वन मण्डल देवास, शाजापुर, रतलाम, मंदसौर, नीमच, उज्जैन एवं मंदसौर के कुल 80 वनअधिकारियों/कर्मचारियों तथा स्वयं सेवकों ने प्रतिभागिता की । वृत्त स्तरीय कार्यशाला हेतु प्रधान मुख्य वनसंरक्षक (वन्यप्राणी) भोपाल से नियुक्त मास्टर ट्रैनर डॉक्टर विकास यादव द्वारा उपस्थित समस्तप्रशिक्षणार्थियों को गिद्धों के पारिस्थितिकीय तंत्र मे महत्व को समझाते हुए गिद्ध गणना की बारीकियों सेअवगत कराया ।
गाँधीसागर अभयारण्य मे मौजूद गिद्धों की 07 प्रजाति – गाँधीसागर अभयारण्य मे गिद्धों की कुल 07प्रजातियाँ पाई जाती है जिसमे से 04 प्रजाति – देशी गिद्ध ,ईजिप्शियन गिद्ध ,सफेद पीठ वाला गिद्ध एवं राजगिद्ध स्थानिय है तथा 03 प्रजाति – सिनेरियस (काला गिद्ध ), हिमालयन ग्रिफन एवं यूरेशीयन ग्रिफन प्रवासीगिद्ध है जो सर्दी के समय अभयारण्य को अपना आवास स्थल बनाते है ।
वर्ष 2021 की गणना मे मध्यप्रदेश मे दूसरे नंबर पर था मंदसौर जिला – वर्ष 2021 में हुए गिद्धगणना मे मंदसौर जिले मे, पन्ना जिलेके उपरांत सर्वाधिक गिद्धों की उपस्थिति पाई गई थी ,गिद्ध गणनारिपोर्ट अनुसार मंदसौर जिले मे वर्ष 2021 मे 676 गिद्ध पाए गए थे। दो चरणों मे की जाएगी गिद्ध गणना -मास्टर ट्रैनर द्वारा बताया गया की इस वर्ष होने वाली गिद्ध गणना 02 चरणों मे की जाएगी ताकि स्थानियगिद्ध एवं प्रवासी गिद्धों की संख्या का प्रथक प्रथक आकलन किया जा सके । गणना की संभावित तिथियाँ फरवरी एवं मई- जून माह मे होने की संभावना है ।

==================

15 जनवरी 2024 तक सभी वाहनों में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट(HSRP) लगाई जावे
मंदसौर 18 दिसम्‍बर 2023/ हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट(HSRP) वाहन स्वामियों तथावाहन की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण है, जो वाहन से संबंधित फ्रॉड, चोरी, फ़ास्टटेग उपयोग, कैमरा द्वाराआसानी से ट्रैक करने आदि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं और आपके हित में हैं । सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार की अधिसूचना सं. 4823 द्वारा वाहनों में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबरप्लेट(HSRP) लगाना अनिवार्य किया गया था, परंतु वर्तमान में कई वाहन स्वामियों द्वारा उपरोक्त का पालननहीं किया जा रहा है तथा स्थानीय विक्रेताओं से मनमाने तरीके से भिन्न-भिन्न प्रकार की वाहन नंबर प्लेटबनवाकर अवैध रूप से उनका प्रयोग किया जा रहा है।पुनश्चः रिट याचिका क्रमांक 7436/ 2021 ऐश्वर्या शांडिल्य विरुद्ध मध्य प्रदेश शासन में माननीय उच्च
न्यायालय जबलपुर द्वारा दिनांक 11 जुलाई 2023 को आदेशित किया गया था कि मध्य प्रदेश के समस्तवाहनों में HSRP लगाए जाने की कार्रवाई 15 जनवरी 2024 तक अनिवार्य रूप से पूर्ण की जावे । सकेपश्चात शासकीय आदेश अनुसार इस संबंध में चालानी कार्रवाई में तेजी लाई जावेगी ।अतः मंदसौर जिले के सभी वाहन स्वामियों से अनुरोध है कि अपने वाहन के नजदीकी डीलर से संपर्क करके दिनांक 15 जनवरी 2024 तक सभी वाहनों में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट(HSRP) लगवा ले।HSRP के लिए ऑनलाइन वेबसाइट https://bookmyhsrp.com/Index.aspx पर भी अप्लाई किया जा सकता है अथवा अपने नजदीकी वाहन डीलर से संपर्क किया जा सकता है ।

==================

मप्र संकल्प पत्र-2023 की गारंटी से होगी खेती समृद्ध

32 हजार करोड़ रूपये की सिंचाई परियोजनाओं को पूरा करने बनेगी मुख्यमंत्री सिंचाई टास्क फोर्स

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने सात दिन में कार्य शुरू करने के दिये निर्देश
मंदसौर 18 दिसंबर 2023/ खेती की समृद्धि के लिये 32,000 करोड़ रूपये की सिंचाईपरियोजनाओं को समय पर पूरा करने के लिये मुख्यमंत्री सिंचाई टास्क फोर्स बनाई जायेगी। मप्र संकल्पपत्र-2023 में सिंचाई सुविधाओं विस्तार करते हुए खेती को आधुनिक और समृद्ध बनाने की गारंटीदोहराई गई है। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा है कि संकल्प-पत्र प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की
गारंटी है। इसके क्रियान्वयन के लिये उन्होंने सभी विभागों को सात दिन में रोड-मेप बनाकर कार्य शुरूकरने के निर्देश दिये है। ग्वालियर एवं चंबल में माधवराव सिंधिया सिंचाई परियोजना, नरसिंहपुर,रायसेन और होशंगाबाद में चिंकी-बोरास बैराज परियोजना, नरसिंहपुर-छिंदवाड़ा में शक्कर-पेंच लिंकसंयुक्त परियोजना, छिंदवाड़ा में पेंच डायवर्सन परियोजना, खंडवा में खंडवा उद्दहन माइक्रो सिंचाईपरियोजना पन्ना में रूंझ मध्यम सिंचाई परियोजना और मझगांव मध्यम सिंचाई परियोजना पन्ना,रीवा, सतना, कटनी एवं जबलपुर में बरगी परियोजना, कटनी में बहोरीबंद माइक्रो सिंचाईपरियोजना, हरदा में शहीद इलाप सिंह उद्रहन माइक्रो सिंचाई परियोजना, श्योपुर में चेंटीखेड़ा मुख्यसिंचाई परियोजना, सतना एवं रीवा में बहुती नहर परियोजना पूरी होने से प्रदेश का कृषि परिदृश्य
पूरी तरह बदल जायेगा।

उज्जैन में बनेगा चना अनुसंधान संस्थान

उज्जैन में चना अनुसंधान संस्थान और डिंडौरी में श्री अन्न अनुसंधान संस्थान स्थापित कियाजायेगा। सोयाबीन फसल को सहकारी तेल मिल स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा। श्रीअन्न की खेती को प्रोत्साहित करने के लिये प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि और मुख्यमंत्री किसानकल्याण योजना से श्री अन्न उत्पादकों को 1,000 रूपये प्रति एकड़ प्रति फसल सम्मान राशि दीजायेगी। श्री अन्न की फसल बोने पर लघु एवं सीमांत किसानों के लिए प्रधान मंत्री 'फसल बीमा योजना में देय प्रीमियम में सब्सिडी दी जायेगी।

शुरू होगा मिशन दाल

अगले 5 वर्षों में दाल उत्पादन बढ़ाने के लिये मध्य प्रदेश में मिशन दाल शुरू किया जायेगा।सरकार द्वारा एमएसपी पर अरहर, मूंग, उड़द एवं मसूर जैसी सभी दालों की खरीद की व्यवस्था कोऔर ज्यादा मजबूत बनाया जायेगा। दाल-विशिष्ट एफपीओ स्थापित करेंगे । इससे दाल की प्रोसेसिंगएवं वैल्यू चेन को बढ़ावा मिलेगा। बागवानी का क्षेत्रफल 20 लाख हेक्टेयर से बढ़ाकर 30 लाख हेक्टेयर
बढ़ावा दिया जायेगा। मध्यप्रदेश फ्लोरीकल्चर मिशन बनाकर मध्यप्रदेश को फलोरीकल्चर में नम्बर वनबनाया जायेगा। पीएम किसान सम्मान निंधि एवं मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना से 80 लाख सेअधिक किसानों को हर साल रूपये 12,000 की वित्तीय सहायता मिल रही है। पिछले साढें तीन वर्षोंमें किसानों के खातों में विभिन्न योजनाओं में 3 लाख करोड़ से अधिक के लाभ दिए गए है। पीएम फसलबीमा योजना के अंतर्गत किसानों को पिछले 3 वर्षों में 20,000 करोड़ से अधिक का भुगतान कियागया है। इसके आलावा 44,600 करोड़ से ज्यादा लागत की केन-बेतवा सिंचाई परियोजना को स्वीकृतिमिल गई है।पांच हॉर्स पावर तक के पंप उपयोग करने वाले 32 लाख किसानों को बिजली बिल पर93% सब्सिडी मिल रही है। 'एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड योजना के अंतर्गत 5,000 करोड़ रूपये सेअधिक के प्रोजेक्ट स्वीकृत कर मध्यप्रदेश देश में प्रथम स्थान पर है। पशुपालकों को पशु उपचार की घर पहुंच सुविधा उपलब्ध कराते हुए 400 से अधिक मोबाइल पशु चिकित्सा इकाइयां संचालित है।

पीएम किसान समृद्धि केंद्र

किसानों को ब्याज रहित लगभग 4 लाख करोड़ का फसली ऋण दिया गया है। यह आगे भीकिसानों को मिलता रहेगा। बीज, फर्टिलाइज़र, मशीनरी आदि को सस्ते दाम में उपलब्ध कराने के लिएप्रत्येक ग्राम पंचायत में पीएम किसान समृद्धि केंद्र स्थापित किया जायेगा। इसके अलावा 5,000 नए कस्टम हायरिंग केंद्र स्थापित करके किसानों को सस्ते दाम में कृषि उपकरण उपलब्ध कराये जायेंगे।

65 लाख हेक्टेयर में होगा सिंचाई क्षमता का विस्तार

कृषि के लिए निरंतर बिजली आपूर्ति की जायेगी। वर्ष 2003 में सिंचाई क्षमता 7.6 लाख हेक्टेयर सेबढ़ाकर 2023 तक 47 लाख हेक्टेयर हो गई है। इसे बढ़ाकर 65 लाख हेक्टेयर तक पहुंचाया जायेगा। हम 4लाख हेक्टेयर तक की उपजाऊ भूमि में सिंचाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए लिफ्ट सिंचाई परियोजनाओंको जल्दी पूरा किया जायेगा। प्रदेश के डार्क जोन क्षेत्रों में बोरवेल, पुनरुद्वार के लिए एक्सपर्ट कमेटी बनाईजायेगी और इस क्षेत्र में 500 करोड़ रूपये का निवेश होगा। मुख्यमंत्री कृषक मित्र योजना के कनेक्शन दिये
जायेंगे। सरसों उत्पादन प्रोत्साहित करते हुए देश के अग्रणी सरसों उत्पादक प्रदेशों में मध्यप्रदेश को शामिलकिया जायेगा। इसके लिये सरसों उत्पादक जिलों के प्रत्येक ब्लॉक में सरसों खरीद केंद्र स्थापित किये जायेंगे।सरसों-के लिये किसान उत्पादक संगठन स्थापित किया जायेगा और उन्हें सहकारी तेल मिल स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा। निरन्‍तर पेज 3 पर

प्रत्येक जिले में बनेगा गौवंश विहार

आचार्य विद्यासागर गौ संवर्धन योजना के अंतर्गत शिक्षित युवाओं को पशुपालन के प्रतिप्रोत्साहित करने के लिए 10 लाख रूपये तक का लोन दिया जायेगा। पशुओं की बीमारी के इलाज एवंपशुओं की मृत्यु होने पर किसानों को वित्तीय सहायता दी जायेगी। पशुधन बीमा योजना के अंतर्गतसभी दुधारू एवं अन्य पशुओं के लिए मुफ्त बीमा एवं उनके रोगों के लिए मुफ्त टीकाकरण की व्यवस्था
की जायेगी। किसानों की सुविधा के लिए पशु चिकित्सालय स्थापित किये जायेंगे । बीमार एवं सड़कहादसों में घायल पशुओं के उपचार के लिये पशु एम्बुलेंस की संख्या बढ़ाई जायेगी। अगले 5 वर्षों मेंप्रत्येक जिले में एक गौवंश विहार स्थापित किया जायेगा। पशु एवं पोल्ट्री चारा निर्माण यूनिट स्थापितकी जायेगी जिससे किसानों को उचित मूल्य पर चारा मिल सके। इसके लिये मध्यप्रदेश पोल्ट्री विकासमिशन शुरू किया जायेगा। भोपाल में एक्वा पार्क का निर्माण किया जायेगा। बालाघाट, मंडला,शहडोल, छतरपुर एवं इंदौर में मछली बीज हैचरी यूनिट्स की संख्या बढ़ाई जायेगी। रेशम उत्पादनएवं मधुमक्खी को बढवा देने के लिये मदद दी जायेगी। किसानों को मधुमक्खी पालन एवं शहद मधुमक्खियों के डिब्बे एवं टूलकिट दिये जायेंगे।

======================

कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने में कोई समझौता नहीं किया जायेगा

कहीं साम्प्रदायिक तनाव की स्थिति होती है तो उसके कारकों पर प्रभावी कार्रवाई की जाये

विकास के कार्य कराना सर्वोच्च प्राथमिकता

विकसित भारत संकल्प यात्रा से जनहितैषी योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन कराया जायेगा

उज्जैन सहित बड़े शहरों का झोनल प्लान बनाने की दिशा में पहल होगी

मुख्यमंत्री डॉ.यादव ने जन-प्रतिनिधियों की उपस्थिति में सभी विभागों की संभागीय समीक्षा बैठक ली

मंदसौर 18 दिसम्‍बर 23/ मुख्यमंत्री डॉ.मोहन यादव ने कहा है कि प्रदेश में विकास कार्यसमय-सीमा में और गुणवत्तापूर्ण कराना सर्वोच्च प्राथमिकता होगी। सभी कार्यों की निरन्तर मॉनीटरिंगकी जायेगी, ताकि जनता के हित में एवं जनता के लिये बेहतर निर्णय लिये जा सकें। मुख्यमंत्री ने कहाकि जनता का हित सर्वोपरि है। मुख्यमंत्री डॉ.यादव ने सभी कलेक्टर्स को निर्देश दिये कि वे भविष्य के
प्रोजेक्ट को देखते हुए शासकीय जमीन आरक्षित करें। उज्जैन सहित बड़े शहरों का झोनल प्लान बनानेकी दिशा में पहल करे। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने रविवार को उज्जैन में सभी विभागों की संभागीयसमीक्षा बैठक में यह बात कही। बैठक में उज्जैन संभाग के सभी संसदीय क्षेत्र के सांसद, विधायकगण,महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष, शहर प्राधिकरण अध्यक्ष, अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव,संभागायुक्त, पुलिस महानिरीक्षक एवं संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर्स एवं पुलिस अधीक्षक उपस्थितथे। मुख्यमंत्री डॉ.यादव ने विकसित भारत संकल्प यात्रा के बेहतर क्रियान्वयन के निर्देश देते हुए कहाकि इस यात्रा से जन-हितैषी योजनाओं का लाभ आम जनता को बेहतर ढंग से मिले। विकसित भारतसंकल्प यात्रा में 25 हजार की आबादी प्रतिदिन कवर की जायेगी। इसमें नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र कीजनता को शासन द्वारा बनाई गई योजना की जानकारी दी जायेगी। मुख्यमंत्री डॉ.यादव ने लोक निर्माण विभाग, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना की निर्माणाधीन सड़कों की समीक्षा करते हुए निर्देशदिये कि सड़कों सहित अन्य निर्माण कार्य समय-सीमा में पूर्ण हो जायें। सभी अधिकारी अनिवार्य रूप से इसका पालन करें।

खुले में बिक रहे मांस एवं मछली के विरूद्ध प्रभावी
कार्रवाई करते हुए इनके विक्रेताओं के लिये मार्केट विकसित करें

मुख्यमंत्री डॉ.यादव ने कहा कि खुले में बेच रहे मांस एवं मछली वालों पर प्रभावी कार्रवाईजारी रहे। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि मांस एवं मछली विक्रेताओं के लिये सभी जगहमार्केट विकसित किये जायें, जिससे सड़क पर मांस एवं मछली बेचने की नौबत नहीं आये। मुख्यमंत्रीडॉ.यादव ने कहा कि प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था बनाये रखने में कोई समझौता नहीं किया जायेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कहीं साम्प्रदायिक तनाव की स्थिति होती है, तो उसके कारकों पर प्रभावीकार्रवाई की जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि सभी पुलिस अधीक्षक अपने-अपने थाना क्षेत्र में झोन कोमजबूत करें। साथ ही जनप्र-तिनिधियों को भी इससे जोड़ें। उन्होंने कहा कि थानों का युक्तियुक्तकरणकरके उनकी सीमा भी निर्धारितकी जायेगी। थानों का रिव्यू किया जायेगा, जिससे उनकी उपयोगिताएवं सार्थकता सिद्ध हो सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्धारित डेसीबल से ज्यादा की ध्वनि पर बजने वाले लाऊड स्पीकरों पर कार्रवाई जारी रहे।डॉ.यादव ने कहा कि समाज के ऐसे सेवानिवृत्त लोगों की सेवाएं ली जायेंगी, जो अच्छे कार्य
करते हैं। ऐसे लोगों का उपयोग समाज-हितैषी योजनाओं के क्रियान्वयन में किया जायेगा। उन्होंनेमिलावटी दूध एवं पेट्रोल पर पूर्व की तरह ही कार्रवाई करने के निर्देश दिये, लेकिन साथ ही कहा किइससे सही काम करने वाले लोगों को परेशान नहीं किया जाये।
सड़कों सहित अन्य निर्माण कार्य में समय-सीमा का ध्यान सभी अधिकारी अनिवार्य रूप से रखेंमुख्यमंत्री ने निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि दताना एवं मुल्लापुरा मार्ग कोजोड़कर कार्य करें। राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारी, जो सड़क बना रहे हैं, वे एक तरफ से बनाते हैं।
आवश्यकता है कि दोनों ओर से सड़क बनाई जाये। उन्होंने कहा कि पाइप लाइन सड़कों पर डालने सेसड़क कट रही हैं। अत: लोगों को समझाइश दी जाये कि वे सड़कों पर पाइप लाइन नहीं डालें। सड़कोंपर पानी निकासी की पर्याप्त व्यवस्था बनाई जाये। उन्होंने स्पष्ट रूप से निर्देश दिये कि नये निर्माणकार्य करने के लिये पहले से बने हुए पक्के निर्माण स्थल को न तोड़ा जाये। मुख्यमंत्री डॉ.यादव ने सभीकलेक्टर्स को निर्देश दिये कि जितने भी निर्माण कार्य हैं, जिनमें दो विभागों के बीच समन्वय कीआवश्यकता है, वहां वे मॉनीटरिंग कर बेहतर समन्वय स्थापित करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभीकलेक्टर्स विधायकगणों की समस्याओं और उनके विषयों का निराकरण प्राथमिकता से करें। मुख्यमंत्रीडॉ.यादव ने कहा कि विकास का एजेण्डा सबसे पहले है। बैठक में विधायकगणों ने सड़क और भवननिर्माण का मुद्दा उठाया। विकसित भारत संकल्प यात्रा को लेकर किये जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी
से मुख्यमंत्री को अवगत कराया।

==============

प.पू. उत्तम स्वामी के आशीर्वाद से आयोजित रोटरी के निःशुल्क चिकित्सा शिविर का 250 से अधिक ने लिया लाभ
रोगियों की निःशुल्क जांच भी हुई
मन्दसौर। रोटरी क्लब मंदसौर द्वारा सोमवार को माहेश्वरी धर्मशाला में आयोजित हो रही श्रीमद् भागवत कथा के दौरान परम पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी ईश्वरानंदजी (उत्तम स्वामी) महाराज सा. के आशीर्वाद से श्री हरिश गर्ग, महेश गर्ग, रमेशगर्ग व गर्ग (केडिया) परिवार द्वारा अपनी मातुश्री श्रीमती ललिताबाई सत्यनारायण गर्ग की प्रथम पुण्यतिथि के अवसर पर अजय हॉस्पिटल के सहयोग से निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। जिसका 250 से अधिक रोगियों ने लाभ लिया। शिविर में ब्लड प्रेशर, शुगर जांच व ईसीजी निःशुल्क की गई।
शिविर का शुभारंभ परम पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी ईश्वरानंदजी (उत्तम स्वामी) महाराज सा. ने किया। आपने रोटरी द्वारा मानव हित में लगाये जा रहे शिविर की सराहना की।
शिविर में सर्जन एवं पेट रोग विशेषज्ञ डॉ. अजय व्यास, दंत रोग चिकित्सक डॉ. वीणा व्यास, एम.डी. मेडिसीन डॉ. विशाल गौड़, एम.डी. मेडिसिन डॉ. मनीष आसवानी, एम.डी. फिजिशियन डॉ. राहुल सेंगर ने सेवाएं दी।
इस अवसर पर क्लब अध्यक्ष पवन पोरवाल, सचिव अनिल चौधरी, प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ. अजय व्यास, रमेश गर्ग (रम्मु भाई), प्रोजेक्ट चेयरमेन दिनेश जैन सीए, युवा भाजपा नेता डॉ. भानुप्रताप सिसौदिया, वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश जोशी, नरेन्द्र अग्रवाल, संजय लोढ़ा, समाजसेवी प्रहलाद काबरा, प्रवीण उकावत, हरिश गर्ग, रमेश गर्ग, दिनेश रांका, संजय गोठी, श्रवण अग्रवाल,  भूपेन्द्र सोनी, अजय नागोरी, राजेश संचेती, हनुमंत राणावत, मनीष गर्ग, पीयुष गर्ग, राकेश सुराणा, महेश काबरा, श्रवण अग्रवाल, श्रीमती रितु गर्ग आदि उपस्थित थे।

==========

पेंशनर महासंघ ने डे केअर सेंटर पर पेंशनर दिवस मनाया

मन्दसौर। सेवानिवृत्त एवं पेंशनर नागरिक महासंघ जिला मन्दसौर द्वारा पं. दीनदयाल उपाध्याय वृद्धजन सेवा केन्द्र (डे केअर सेंटर ) पर पेंशनर दिवस मनाया गया ।
इस अवसर पर महासंघ जिलाध्यक्ष श्री श्रवणकुमार त्रिपाठी ने बताया कि 17 दिसम्बर 1982 को सर्वाेच्च न्यायालय ने पेंशन को लेकर एक महत्वपूर्ण फैसला दिया था तबसे हम पेंशनर दिवस मना रहे हैं ।
महासंघ के जिला उपाध्यक्ष श्री रमेशचंद्र चन्द्रे ने कहा कि पेंशन का प्रारम्भ राजा विक्रमादित्य के समय व उसके बाद 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के बाद अंग्रेजी शासन में हुआ था जब युद्ध मे सैनिक मारे जाते थे उनके परिवार को भरणपोषण के रूप मंे राशि प्रदान की जाती थी।
कार्यक्रम मे सर्वश्री कोमलचन्द वाणवार, विष्णुलाल भदानिया, गोवर्धनदास बैरागी, घनश्याम व्यास, जी डी पारिख, कृष्णकांत शर्मा, बृजेन्द्रसिंह जादोन, गिरीश ढमढरे, निरंजन पोरवाल व अन्य पेंशनर बन्धु उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन नगर सचिव चन्द्रकान्त शर्मा ने किया व आभार प्रदर्शन कोमलचन्द वाणवार ने माना।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}